Career in Petroleum Engineering: पृथ्वी के गर्भ में छुपी बेहतर भविष्य की संभावना

कैसे करें पेट्रोलियम इंजीनियरिंग? – वैसे तो धरती ने हमें अपने गर्भ से बहुत से खजाने दिए हैं आज जिनका उपयोग बहुत ही महत्वपूर्ण साबित हो रहा है।लोंह इस्पात , कोयला कई खनिज भण्डार हमें भूगर्भ से मिले हैं ।पेट्रोलियम भी एक बहुत उपयोगी रत्न है ।शोधकर्ताओं का मानना है की पेट्रोल की उत्पत्ति बहुत वर्ष पूर्व जीवाश्मके मिलने से हुई थी।

Career in Petroleum Engineering in Hindi: आज के समय में हमारे दैनिक जीवन में पेट्रोलियम का काफी ज्यादा महत्व है। यह वाहनों में मुख्यतः प्रयोग होता है किंतु इसके अतिरिक्त विद्युत, ऊष्मा, औद्योगिक इंडस्ट्री में, मशीनों में पॉवर उत्पन्न करने में, लुब्रिकेंट्स तथा अन्य उप-उत्पादों जैसे वैसलिन, ग्रीस, मोबिल आदि के रूप में भी इसका उपयोग किया जाता है।पेट्रोलियम शब्द की उत्पत्ति लैटिन शब्द petra और oleum से हुई है जिसका तात्पर्य है चट्टान और तेल।

पेट्रोलियम या खनिज तेल मुख्यतः असंतृप्त हाइड्रोकार्बन और कार्बोनिक यौगिक होते है, जिनका गठन मृत जीव, शैवाल आदि से होता है। जो लाखों करोड़ों वर्षों तक जमीन के नीचे दबे रहते है और इसी दबाव और गर्मी के बीच रासायनिक प्रक्रियाओं के द्वारा खनिज तेल का निर्माण होता है। चलिए आज हम आपको पेट्रोलियम इंजीनियरिंग : पृथ्वी के गर्भ में छुपी बेहतर भविष्य की संभावना के बारे में विस्तार से बताते है कि पेट्रोलियम इंजीनियरिंग क्या है, और इससे  सम्बंधित कोर्स, संस्थान, व योग्यता इत्यादि के बारे में।

Page Index
1.पेट्रोलियम इंजीनियरिंग का इतिहास (History of Petroleum)
2.पेट्रोलियम इंजीनियरिंग क्या है (What is Petroleum Engineering)
3.पेट्रोलियम इंजीनियरिंग कोर्स (Petroleum Engineering Course)
4.पेट्रोलियम इंजीनियरिंग के कार्य क्षेत्र (Sectors of Petroleum Engineering)
5.पेट्रोलियम इंजीनियरिंग के लिए आवश्यक योग्यता
6.आवश्यक कौशल(Skills Required)
7.भविष्य की संभावनाएँ (Future Possibilities)
8.सैलरी (Salary)
9.अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग का इतिहास (History of Petroleum)

अगर देखे तो हम पायेंगे कि पेट्रोलियम का उपयोग क्रूड ऑयल के रूप में लगभग 4000 वर्षों से हो रहा है, बेबीलोन, चीन, ग्रीक, मिस्र, अरब देश, और भारत में कैरोसीन ऑयल के रूप में इसका इस्तेमाल  लैंप और चिराग़ में होता था। विश्व में पहली ऑयल रिफ़ाइनरी 1856 में शुरू की गई। तब से लेकर आज तक पेट्रोलियम की मांग लगातार बढ़ती जा रही है। आज के समय में पेट्रोलियम उद्योग में कुशल पेशेवरों (professionals) की अत्यंत आवश्यकता है। यदि आप भी पेट्रोलियम के क्षेत्र में रोज़गार के सुअवसर पाना चाहते है तो आपको पेट्रोलियम विषय की अच्छी जानकारी होनी जरुरी है|

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग क्या है (What is Petroleum Engineering)

पेट्रोलियम इंजिनियरिंग में विद्यार्थी को खनिज तेल के शोधन, उसके उप-उत्पादों का निर्माण, क्रूड ऑयल की प्रकृति, खनिज तेल के नये नये श्रोत की खोज करना आदि विषयों के बारे में पढ़ाया जाता है। जिससे आप तेल शोधक इंजीनियर, ड्रिल तकनीशियन आदि बन कर पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में अपना भविष्य उज्ज्वल बना सकते है|

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग कोर्स (Petroleum Engineering Course)

अगर आप पेट्रोलियम इंजीनियरिंग से जुड़े तथ्यों से अवगत हो चुके हो,और पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में करियर बनाना चाहते है तो आपके पास12वीं में विज्ञान (PCM) विषय का होना आवश्यक है। और अगर आप भी पेट्रोलियम इंजीनियरिंग कोर्स(petroleum engineering course)करके अपना करियर इस दिशा  में बनाना चाहते है तो आपके पास प्रवेश पाने के निम्नलिखित रास्ते है।आप चाहे तो इन कोर्स को कर पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में अपना करियर बना सकते है ।

बैचलर डिग्री

  • परास्नातक
  • बी.टेक इन पेट्रोलियम इंजीनियरिंग
  • बी.टेक इन पेट्रोकेमिकल इंजीनियरिंग
  • बी.टेक इन पेट्रोलियम रिफाइनरी इंजीनियरिंग
  • बी.टेक इन पेट्रोलियम रेसेर्वोयर एंड प्रोडक्शन इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा कोर्स

मास्टर डिग्री  

  • म.टेक इन पेट्रोलियम इंजीनियरिंग
  • म.टेक इन पेट्रोलियम रिफाइनरी इंजीनियरिंग

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग के कार्य क्षेत्र (Sectors of Petroleum Engineering)

यदि आप भी  पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में अपना करियर बनाना चाहते है तो ऊपर दिए गये कोर्स में से किसी एक को चुन सकते है| आइये अब हम आपको पेट्रोलियम इंजीनियरिंग के कार्य क्षेत्र के बारे में बताते है|ताकि कोर्स करने के बाद आप चाहे तो इन करियर प्रोफाइल को चुन सकते है |

  • प्रोडक्शन इंजीनियर
  • तेल शोधक इंजीनियर
  • ड्रिल तकनीशियन
  • खनन इंजीनियर

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग के लिए आवश्यक योग्यता

Eligibility (योग्यता)उम्मीदवारों को स्नातक में दाख़िला पाने के लिये किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से 10+2 में PCM के साथ न्यूनतम 50%  (कुछ यूनिवर्सिटी में 10th व 10+2 दोनों में 60 %)अंक प्राप्त करना अनिवार्य है | उम्मीदवारों को परास्नातक में दाख़िला पाने के लिये किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से संबंधित विषय में स्नातक में डिग्री प्राप्त करना अनिवार्य है |
Age (उम्र)16 वर्ष या उससे अधिक
Qualification (शैक्षिक योग्यता)स्नातक इंटरमीडिएट
Admission Process (प्रवेश प्रक्रिया)GATE ,जेईई मेंस ,राज्य स्तरीय इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम

आवश्यक कौशल(Skills Required)

  • विज्ञान और गणित में क्षमता
  • अच्छी कम्युनिकेशन स्किल्स
  • टीम-वर्क स्किलस
  • रचनात्मक दृष्टिकोण (creative skils)
  • विश्लेषणात्मक कौशल (analytical skills)
  • पारस्परिक कौशल (interpersonal skills)

भविष्य की संभावनाएँ (Future Possibilities)

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में डिग्री प्राप्त कर आप आसानी से नौकरी पा सकते है| आप ONGC, Reliance Petroleum, Essar, GAIL, Bharat Petroleum, Hindustan Petroleum, Indian oil जैसी कंपनियों में अवसर तलाश कर अपने भविष्य को नई ऊंचाईयो तक पहुंचा सकते हैं।

सैलरी (Salary)

सैलरी और करियर के लिहाज से इसमें असीम संभावनाए है जिसमे शुरुआती सैलरी (SALARY) का काफी अच्छा होना तथा करियर के लिहाज़ से भी इसमें अच्छे विकल्प शामिल है| पेट्रोलियम इंजीनियरिंग से जुड़े स्नातक छात्रों को कोई भी पेट्रोलियम कम्पनी प्रथम वरीयता देती है| आप शुरुआत में तीन लाख से पांच लाख तक सालाना सैलरी पा सकते है| जिससे पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में आपका भविष्य सुनहरा हो सकता है |

प्रमुख संस्थान (Prominant Institutes)

  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), मुंबई
  • इंडियन स्कूल ऑफ माइन्स यूनिवर्सिटी (आईएसएम), धनबाद
  • राजीव गांधी पेट्रोलियम प्रौद्योगिकी संस्थान (आरजीआईपीटी), उत्तर प्रदेश
  • पेट्रोलियम और ऊर्जा अध्ययन विश्वविद्यालय (यूपीईएस), देहरादून
  • पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय (पीडीपीयू), गांधीनगर
  • महाराष्ट्र इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी), पुणे
  • एम एस इंजीनियरिंग कॉलेज, बैंगलोर
  • एलडी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, अहमदाबाद
  • जी एच पटेल कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, वल्लभ विद्यानगर, गुजरात
  • पेट्रोलियम और ऊर्जा अध्ययन विश्वविद्यालय (यूपीईएस), देहरादून

पेट्रोलियम इंजिनियरिंग के कैरियर से जुड़े आपके सवालों का जवाब देने में  हम सक्षम रहे हो तो अपने बहुमूल्य सुझाव हमें देना न भूले |

आप अपनी उलझने हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर भी हमसे सवाल पूछ सकते है |

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

प्रशन – पेट्रोलियम इंजिनियरिंग में कितना स्कोप होगा भविष्य में ?

उत्तर – बढ़ते भारत में पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में बहुत अधिक संभावनाएं मौजूद हैं |जीने माध्यम से आप चाहें तो भारत या फिर विदेश कहीं भी जाकर अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं |भविष्य में इसका चलन बहुत अधिक होने वाला है ,क्यों की आज के दौर इंधन की आवशयकता बहुत बढ़ गयी है |

प्रशन – पेट्रोलियम इंजिनियरिंग करने के लिये हमे कितना पैसा खर्च करना पढ़ सकता है ?

उत्तर – पेट्रोलियम इंजीनियरिंग करने के लिए आपको अपने कोर्से का चुनाव करने से लेकर कहाँ कर रहे हैं इन सभी बातों पर निर्भर करेगा | लेकिन एक बार अगर आप इन कोर्सिस को कर लेते हैं तो उसके पश्चात आप इसमें अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं |

प्रशन – इसमें कंप्यूटर का ज्ञान आवश्यक है क्या ?

उत्तर – कंप्यूटर विषय में अच्छा ज्ञान आपको इस फिल्ड में बहुत कुछ सिखा सकत है , इन कोर्सिस को करने के लिए आपको कंप्यूटर में अच्छी जानकारी होना अतिआव्शय्क है |

प्रशन – मैं आसाम के कोकराझाड़ की रहने वाली लड़की हूँ क्या मेरे लिए इस कोर्से में कोई संभावना है ?

उत्तर – आप कहीं भी क्यों ना रहते हों इससे की फर्क नहीं पड़ता क्यों की आप आगरा चाहें तो कहीं से भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं आप अपने अनुसार अपना कॉलेज का चुनाव करके आप इस विषय में सम्पूर्ण शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं | कई लड़कियों ने इस फिल्ड को चुनकर अपना भविष्य का निर्माण भी किया है ,इसलिए अगर आप हिन्दुसातन के किसी भी कोने में क्यों ना रहते हों इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा इन कोर्सिस को भी कर सकता है ,बस आप उसको करने के योग्य हों |

प्रशन – मैंने आपका लेख पढ़ लिया है ? मैं एक बार अपने हिसाब से इसकी जानकारी जुटा लेता हूँ उसके बाद आपसे संपर्क करता हूँ ?

उत्तर – आप अपने हिसाब से पूरी जानकारी एकत्रित कर लीजिये उसके पश्चात आप जब चाहें तब हमसे इस विषय में बात कर सकते हैं ,इस बीच आपको अगर किसी भी तरह की कोई समस्या भी आये तो भी आप हमसे जानकारी ले सकते हैं |

प्रश्न – क्या पेट्रोलियम इंजीनियर के लिए जॉब पाना मुश्किल है ?

उत्तर – भारत खनिज सम्पदा और प्राकृतिक गैस का विशाल भंडार है जिसके फल स्वरुप यहां एक पेट्रोलियम इंजीनियर का करियर बेहद असीम है| एक इंजीनियर गवर्नमेंट एंटरप्राइज में भी जॉब पा सकता है (ONGC and OIL)|

Read Also: 10वीं के बाद मैकेनिकल इंजीनियरिंग में कैसे भविष्य बनायें, जाने पूरी जानकारी।

चिंता न करें, यदि आप भी करियर सम्बंधित किसी तरह के परेशानियों से जूझ रहे हैं तो हमसे संपर्क करना न भूले| याद रहे केवल उचित मार्गदर्शन से ही असंभव को संभव किया जा सकता हैं|आप अपनी उलझने हमें कमेंट भी कर सकते हैं|

Rate this post

2 thoughts on “Career in Petroleum Engineering: पृथ्वी के गर्भ में छुपी बेहतर भविष्य की संभावना”

Leave a Comment