फायर इंजीनियरिंग में करियर: Fire Engineering आग से खेलने वाले यानि असली हीरो…

रोमांच से भरे इस करियर में आपको असीम संभवनाएं तो मिलेंगी ही साथ ही आपको भरपूर एडवेंचर से भरा सफ़र भी रहने वाला है | मानो जैसे आप किसी सुपर हीरो की भांति हो और लोग बस आप के ही चर्चे कर रहे हों | सच मायने में इस फिल्ड में कार्यरत लोग किसी असली हीरो से कम नहीं |

Career in Fire Engineering in Hindi: हमारा शरीर पंच तत्वों अग्नि, वायु, आकाश, पृथ्वी, और जल से मिलकर बना है| अग्नि हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग है। जब तक अग्नि का प्रयोग नियंत्रित रूप में होता है तब तक यह जीवनदायी है लेकिन यदि यह अनियंत्रित हो जाए तो जीवन और संपत्ति दोनों के लिए हानिकारक हो जाती है|

Fire Safety:

अनियंत्रित अग्नि को नियंत्रित करने और उसके विनाश को कम करने के लिए उपयोग की गई योजना (पद्धति) को अग्नि सुरक्षा या (Fire Safety) कहते है|  Fire Safety की सहायता से आग से होने वाले नुक्सान को काफी हद तक कम किया जा सकता है। Fire Safety की पढ़ाई करके लोगो की सहायता प्रदान करने वाले Profession अपना कर आप भी Fire Safety Officer बन सकते हैं। या फिर आप आग से खेलने वाले खतरों के खिलाड़ी (Fire Engineering) बन कर लोगों की मदद भी कर सकते है इतना ही नहीं आप रोज़गार के रूप में भी इसे अपनाकर बढ़िया सैलरी पा सकते है। आज हम आपको बताते है, कि (Fire Engineering) क्या है, इसमें आप कैसे करियर बना सकते है|और साथ ही इससे सम्बंधित सैलरी, आवश्यक योग्यता, प्रमुख संस्थान इत्यादि के बारे में|

Page Index:
1. JEE Mains उपयोगी संसाधन
2. Fire Engineering का इतिहास
3. Fire Engineering के कार्य क्षेत्र
4. Fire Engineering Course
5. Fire Engineering के लिए आवश्यक योग्यता
6. आवश्यक कौशल (Skills Required)
7. नौकरी के विकल्प (Job Options)
8. Job Title(नौकरी शीर्षक)
9. सैलरी (Salary)
10.अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न(FAQs)

Fire Engineering का इतिहास

Fire Engineering का इतिहास प्राचीन रोमन साम्राज्य के समय से ही प्रचलित है, उस समय के भवनों का निर्माण इस प्रकार से होता था जिसमें आग लगने पर धुआँ आसानी से निकल जाता था और लोग भी सुरक्षित निकल जाते थे। 20वीं शताब्दी के प्रारंभ में fire engineering की अलग से शिक्षा दी जाने लगी और 1903 में USA में पहली बार Fire engineering में पहली बार Degree प्रोग्राम की शुरुआत हुई।उसके बाद UK और अन्य देशों में पढ़ाई शुरू हुई। भारत में भी ब्रिटिश शासनकाल से ही Fire Safety पर ध्यान दिया जा रहा है।

Fire Engineering के कार्य क्षेत्र

इसमें आग से खेलकर सेफ्टी सुपरवाईज़र, फायर प्रोटेक्शन,टेक्नीशियन लोगों के जीवन को सुरक्षित करते है। फायर इंजिनियरिंग का अपने आप में विशाल कार्य-क्षेत्र है। चलिए ,हम आपको प्रमुखता से Fire Engineering के कार्य क्षेत्र से अवगत कराते है।

  • असिस्टेंट
  • सेफ्टी इंस्पेक्टर
  • सेफ्टी इंजीनियर
  • सेफ्टी ऑफिसर
  • सेफ्टी सुपरवाईज़र
  • फायर प्रोटेक्शन टेक्नीशियन
  • सेफ्टी ऑडिटर
  • फायर सुपरवाइजर
  • फायर ऑफिसर

Fire Engineering Course

फायर इंजिनियरिंग से जुड़े कोर्स को करके आप fire engineer बन सकते है जो निम्नलिखित है ।

  • BE Fire Engineering
  • B.tech Fire & Safety Engineering
  • Certificate Course in Fire and Safety Engineering
  • Diploma in Fire Engineering
  • Diploma in Fire & Safety Engineering
  • Diploma in Industrial Safety Engineering
  • PG Diploma in Fast & Safety Engineering

Fire Engineering के लिए आवश्यक योग्यता

Eligibility (योग्यता)उम्मीवारों को किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से 12वी में विज्ञान विषय से 50% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है।
Age (उम्र)19 वर्ष या उससे अधिक
Qualification (१ौक्षिणक योग्यता)इंटरमीडिएट
Physical Fitness(शरीरिक योग्यता)पुरुषों के लिए न्यूनतम लंबाई 165 सेंटीमीटर और वज़न 50 किलोग्राम महिलाओं के लिए न्यूनतम लंबाई 167 सेंटीमीटर और वज़न 46 किलोग्राम आंखों की रोशनी 6/6 अवश्य होनी चाहिए।

आवश्यक कौशल (Skills Required)

  • रचनात्मक दृष्टिकोण
  • टीम वर्क योग्यता
  • एकाग्रता
  • संचार दक्षता
  • संगठनात्मक योग्यता
  • स्थितियों के मूल्यांकन में दक्षता
  • त्वरित निर्णय लेने में सक्षम

प्रमुख संस्थान (Top College in India)

कॉलेज/यूनिवर्सिटीज के नाम(Name of Colleges/Universities)जगह(Location)
Delhi Institute of Fire Engineering Delhi
University of Petroleum and Energy StudiesDehradun
IES Institute of Technology & Management (IITM)Delhi
MIT College of EngineeringBihar
Ganga Institute of Technology & Management (GITAM)Jhajjar
APJ Abdul Kalam Technological UniversityKerala
4G Skills Fire CollegeSonipat
Sai Sagar Institute of Safety Management (SSISM)Bharatpur
National Fire Service CollegeNagpur

नौकरी के विकल्प (Job Options)

Fire Engineers की नियुक्ति सरकारी और गैर-सरकारी सेक्टर में अनिवार्य है। इसके अलावा फायर स्टेशन, बिल्डिंग निर्माण, एल-पीजी प्लांट, केमिकल प्लांट, रिफ़ाइनरी, गैस प्लांट, प्लास्टिक उद्योग, रेलवे, एयरपोर्ट, डिफेंस, माइनस, ओएनजीसी आदि में भी आप नौकरी के विकल्प (job option) तलाश सकते हैं।

Job Title(नौकरी शीर्षक )

  1. डिज़ाइन डायरेक्टर (Design director)
  2. इंजीनियर (Engineer)
  3. फायर प्रिवेंशन रिसर्च इंजीनियर (Fire Prevention Research Engineer)
  4. फायर प्रोटेक्शन इंजीनियर (Fire Protection Engineer)
  5. लोस्स कण्ट्रोल मैनेजर (Loss Control Engineer)

सैलरी (Salary)

फायर इंजीनियरिंग से जुड़े लोगों के लिए गवर्नमेंट और पब्लिक सेक्टर में काफी संभावनाएं हैं। इस फील्ड सेजुड़े प्रोफेशनल्स रेलवे, एयरफोर्ट ऑथॉरिटी ऑफ इंडिया, डिफेंस, इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड, ओएनजीसी, माइंस, रिफाइनरिज, पेट्रोकेमिकल्स कॉम्प्लेक्स आदि में जॉब की तलाश कर सकते हैं। आप Fire Engineering में कोर्स करने के बाद शुरुआत में 10,000/- से 25,000/- प्रतिमाह तक की सैलरी (Salary) पा सकते है और अनुभव प्राप्त करते ही आप की सैलरी में आसानी से बढ़ोत्तरी होती जाती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न(FAQs)

प्रशन – फायर इंजीनियरिंग की शाखाओं के प्रकार क्या हैं ?

उत्तर – फायर इंजीनियरिंग की तीन प्रकार की शाखाएं हैं |
1 . हाथ से नियंत्रित शाखा (Hand Controlled Branch)
2 . डिफ्यूजर शाखा (Diffuser Branch)
3 . फोग नोजल शाखा (Fog Nozzle Branch)

प्रशन – फायर इंजीनियरिंग में क्या उतने पद होंगे जिससे सबको कार्यरत किया जा सके ?

उत्तर – फायर इंजीनियरिंग में अनेक पद मौजूद रहते है जिनकी रिक्तियां समय समय अनुसार कभी ख़त्म नहीं होती |इसमें आप सरकारी एवं निजी विभाग दोनों के लिए आवेदन कर सकते हैं , उपलब्धता के आधार पर आपका स्वयं ही चुनाव किया जायेगा |

प्रशन – इसमें जॉब सिक्युरिटी क्या है ?

उत्तर – इस फिल्ड में आपकी जॉब 100% सिक्योर ही होती है, एक बार आप जहाँ भी नियुक्त हो जाते वहां से आप अपना पूरा कार्य अवधि सम्पूर्ण कर सकते हैं |

प्रशन – इसमें सरकारी पद मिलने के बाद कार्यकाल पूरा होने के पश्चात क्या लाभ मिलेगा ?

उत्तर – सरकारी विभाग मिलने के पश्चात अगर आप अपने कार्य से सेवानिवृत होते हैं तो आपको सरकार की ओर से आपको सम्मान व एक निर्धारित राशि भी दी जाती है , और संभत आंशिक रूप से महीने का भत्ता भी |

प्रशन – इस फिल्ड से जुड़े कोर्सिस के लिए कहाँ आवेदन करना होगा ?

उत्तर – आप यदि इस फिल्ड में कार्य करने हेतु इच्छुक हैं तो आप खुद से अपने अपने कोर्सिस का चयन कर लें उसके बाद आप अपने अनुसार कोई भी कॉलेज या इंस्टिट्यूट का चुनाव कर सकते हैं , जहाँ से आप अपनी इच्छानुसार अपने द्वारा चुने गए कोर्स को पढ़ सकते हैं |

प्रशन – इसमें ऑफिस वर्क रहता या फिल्ड में जाकर काम करना पड़ेगा ?

उत्तर – ये इस पर निर्भर करेगा की आप किस पद के लिए आवेदन कर रहे हैं , यदि आप कोई भी ऑफिस से जुड़े पद के लिए आवेदन करेंगे तो आपको उसी अनुसार ऑफिस में कार्यरत किया जा सकता है |

Rate this post

2 thoughts on “फायर इंजीनियरिंग में करियर: Fire Engineering आग से खेलने वाले यानि असली हीरो…”

Leave a Comment