बायोटेक्नोलॉजी क्या है: कोर्स, परीक्षा, फ़ीस, कॉलेज, जॉब इत्यादि

जो स्टूडेंट कुछ नया करना चाहते है और कुछ नया करने में विश्वास रखते हैं उनके लिए बायोटेक्नोलॉजी कोर्स सबसे पसंदीदा हो सकता है. बायोटेक्नोलॉजी से संबधित अनेक कोर्स है जिनका विवरण हम इस आर्टिकल में देने वाले हैं.

उन विद्यार्थियों के लिए बायोटेक्नोलॉजी से संबधित कोर्स करना बहुत अच्छा साबित हो सकता है, जिनके पास 12वीं में साइंस विषय था उनके लिए यह कोर्स उनका भविष्य निर्माता बन सकता है. आइये जानते हैं कि बायोटेक्नोलॉजी क्या है? और इसमें किस तरह के कोर्स किये जाते हैं.

Page Index
1. बायोटेक्नोलॉजी क्या है?
2. बायोटेक्नोलॉजी क्या करता है?
3. बायोटेक्नोलॉजी से संबधित कोर्स
4. डिप्लोमा कोर्सेज
5. बैचलर डिग्री
6. पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेज
7. आवश्यक शैक्षणिक योग्यता
8. कोर्सिस करने के लिए अनुमानित फीस
9. बायोटेक्नोलॉजी से संबधित कोर्स करने के बाद नौकरियां और जॉब प्रोफाइल
10. जॉब प्रोफाइल
11. बायोटेक्नोलॉजी में रोजगार
12. बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियर को सैलेरी
13. बायोटेक्नोलॉजी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण प्रश्र

बायोटेक्नोलॉजी क्या है?

बायोटेक्नोलॉजी को भारत में ‘बायोटेक’ के नाम से जाना जाता है. यह एक इंजीनियरिंग कोर्स है. इस कोर्स में अलग-अलग कोर्स है जिसकी माध्यम से छात्र अलग-अलग फिल्ड में कार्य कर सकते हैं. अगर मैं अपने शब्दों में कहूँ तो बायोटेक्नोलॉजी साइंस की वह ब्रांच है जिसमे बायोलॉजी और टेक्नोलॉजी को मिलाकर एक नया प्रोडक्ट (इनोवेशन्स) तैयार किया जाता है जो आने वाले समय में समाज के लिए बहुत उपयोगी साबित होता है.

बायोटेक्नोलॉजी क्या करता है?

आपके दिमाग में यह सवाल जरुर आया होगा की बायोटेक्नोलॉजी इंजिनियर का काम क्या होता है? आपको बता दूँ कि बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियर किसी भी काम को एक अलग तरीके से करता है और उसका मकसद समाज दुनिया में अपने काम के माध्यम से परिवर्तन लाना होता है.

चाहे वो कृषि से रिलेटेड कोई बिज हो जिसपर एक्सपेरीमेंट करके एक नया बिज तैयार करना हो जो अच्छी पैदवार दे या फिर किसी भी तरह का हैल्थ मेडिसिस बनाना हो. बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियर अपनी रूचि के अनुसार बायोटेक्नोलॉजी से संबधित कोर्स ज्वाइन करता है और इन फिल्डस में अपना काम करता है जैसे- एनिमल हसबेंड्री, एग्रीकल्चर, मेडिसिन, जेनेटिक इंजीनियरिंग, एनवायरनमेंट कन्जर्वेशन, हेल्थकेयर और रिसर्च एंड डेवलपमेंट से जुड़े कार्य करता है.

बायोटेक्नोलॉजी से संबधित अनेक कोर्स है जिनका विवरण हम निचे दे रहे हैं. कोई भी छात्र 10+12वीं  के बाद अपना भविष्य बायोटेक्नोलॉजी क्षेत्र में बना सकता है. इसके अनेक कोर्स है और उनका पाठ्यक्रम और अवधि अलग-अलग है. हम आपको चार मुख्य कोर्स के बारें में विस्तार से बताने वाले हैं. यह कोर्स इस तरह है-

  • डिप्लोमा कोर्सेज
  • बैचलर डिग्री कोर्सेज
  • पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेज (मास्टर और पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा प्रोग्राम)
  • पीएचडी कोर्सेज

डिप्लोमा कोर्सेज

यदि कोई छात्र बायोटेक्नोलॉजी में अपना भविष्य बनाना चाहता है तो वो बायोटेक्नोलॉजी में डिप्लोमा प्राप्त कर सकता है. इसमें योग्यता और इसकी अवधि इस तरह है. इसमें प्रवेश लेने के लिए अन्य राज्यों में अलग-अलग तरह के एंट्रेस एग्जाम और मैरिट के अनुसार प्रवेश दिया जाता है।

योग्यता10वीं पास स्टूडेंट यह बायोटेक्नोलॉजी डिप्लोमा कोर्स कर सकता है. आयु सीमा 17 वर्ष.
अवधियह 3 साल का कोर्स है और इसे पूरा करने में करीब 2 लाख रूपए तक लग सकते हैं.

बैचलर डिग्री

बहुत से इंस्टीट्यूट और युनिवर्सिटीज अंडरग्रेजुएट कोर्सेज ऑफर करते हैं. आप बायोटेक्नोलॉजी में ग्रेजुएशन करने के लिए यहाँ अप्लाई कर सकते हैं. इसमें प्रवेश लेने के लिए विद्यार्थी को एंट्रेस एग्जाम पास करना अनिवार्य है.

योग्यता 12वीं साइंस विषय के साथ 50 प्रतिशत से उत्तीर्ण. आयु सीमा 17 वर्ष.
अवधि4 साल का यह कोर्स है.
फीसइसमें करीब 2 लाख से 5 लाख तक फीस लग सकती है.

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेज

बायोटेक्नोलॉजी में इस कोर्स को अक्सर एमटेक या बायोटेक्नोलॉजी में एम्एससी के नाम से जाना जाता है. इसमें प्रवेश के लिए संस्था द्वारा मैरिट लिस्ट या फिर किसी भी तरह का एंट्रेस एग्जाम के द्वारा प्रवेश प्रक्रिया पूरी होती है.

योग्यता – 12वीं साइंस में 50 प्रतिशत अंको से उत्तीर्ण और आयु करीब 17 वर्ष अनिवार्य है.
अवधि2 वर्ष.
फीस1 लाख रूपए से 2 लाख रूपए तक.

आवश्यक शैक्षणिक योग्यता

इस विषय की योग्यता के अनुसार 12 वीं में आपके पास  बॉयोलॉजी विषय होना अनिवार्य है तथा पोस्ट ग्रेजुएशन में प्रवेश पाने के लिए आपका ग्रैजुएट होना ज़रुरी है। 12 वीं के बाद आप बीई, बी एससी, बी टेक कर सकते है। ग्रेजुएशन के बाद स्टूडेंट मास्टर डिग्री की पढ़ाई कर सकते है। अगर आप मास्टर डिग्री कर रहे है तो इसके लिए बायोटेक्नोलॉजी या बायोलॉजी में किसी भी एक ब्रांच से ग्रेजुएशन होना चाहिए।

कोर्सिस करने के लिए अनुमानित फीस

इसे बायोटेक्नोलॉजी डोक्ट्रोल प्रोग्राम्स भी कहा जाता है. इसमें आप अपनी पोस्टग्रेजुएशन पूरी करने के बाद PHD कोर्स में अप्लाई कर सकते हो. इसमें प्रवेश लेने के लिए आपको  पोस्टग्रेजुएट अच्छे अंको से उत्तीर्ण करनी पड़ती है. इसे आप पार्ट टाइम और फुल टाइम के रूप में भी कर सकते हैं.

योग्यतापोस्ट ग्रेजुएशन 12वीं साइंस में उम्र सीमा 17 वर्ष से अधिक.
अवधि3 से 4 वर्ष.
फीस3 से 5 लाख रूपए तक लग सकते हैं.

बायोटेक्नोलॉजी से संबधित कोर्स करने के बाद नौकरियां और जॉब प्रोफाइल

बायोटेक्नोलॉजी से संबधित किसी भी फिल्ड में कोर्स सफलतापुर्वक पूरा करने के बाद एक इंजिनियर के रूप में छात्र या छात्रा किसी भी फिल्ड में कार्य कर सकते हैं. उसके लिए देश और विदेश में अनेक तरह की नौकरियां उपलब्ध होती है. वो चाहे तो अपने देश में रहकर अपने देश के लिए कार्य कर सकता है. वह किसी फिल्ड जैसे –हैल्थ केयर, एग्रीकल्चर, मेडिसिंस में एक रिसर्चर के रूप में कार्य कर सकता है.

जॉब प्रोफाइल

बायोटेक्नोलॉजी से संबधित कोर्स पूरा करने के बाद अभ्यार्थी का जॉब प्रोफाइल इस तरह होता है-

  • रिसर्च लेबोरेट्रीज
  • हेल्थ केयर सेंटर
  • फार्मस्युटीकल कंपनीज
  • एनिमल हसबेंडरी
  • मेडिकल राइटिंग
  • फूड मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्रीज़
  • जेनेटिक इंजीनियरिंग
  • आईटी कम्पनी

बायोटेक्नोलॉजी में रोजगार

1. मेडिकल लेखन

2. कॉलेज और विश्वविद्यालय

3. फार्मास्युटिकल कंपनियां

4. आईटी कंपनियां

5. हेल्थ केयर सेंटर्स

6. एग्रीकल्चर सेक्टर

7. एनिमल हसबेंड्री

8. जेनेटिक इंजीनियरिंग

9. रिसर्च लैबोरेट्रीज

10. फ़ूड मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री

 

बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियर को सैलेरी

बायोटेक्नोलॉजी से संबधित किसी भी कोर्स को पूरा करने के बाद बायोटेक्नोलॉजी इंजिनियर को शुरूआती सैलेरी किसी भी प्राइवेट कंपनी में 30,000 रूपए से लेकर 1 लाख तक मिल सकती है. इसके आलावा यदि वह किसी सरकारी संस्था में कार्यरत होता है तो यह सैलेरी 1 लाख से 5 लाख प्रतिमाह हो सकती है. इसके अलावा वो अपनी कुशलता के अनुसार इससे अधिक भी कमा सकता है.

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स से सम्बंधित कॉलेज

College
1. Amity University
2. Noida International University
3. Banaras Hindu University (BHU)
4. Lovely Professional University
5. Department of management sciences, Pune University
6. Manipal School Of Life Sciences
Place
Lucknow
Greater Noida
Varanasi
Jalandhar
Ganeshkhind, Pune
Manipal
Links
Click Here
Click Here
Click Here
Click Here
Click Here
Click Here

प्रशन – क्या इन कोर्सिस को करने के बाद विदेशों में रोजगार मुमकिन है ?

उतर – बिलकुल इन कोर्सिस को करने के बाद आप भी विदेशों में अवसर अनुसार रोजगार पा सकते हैं,साथ ही दिलचस्पी पर भी निर्भर करता है|

प्रशन – पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सिस के लिए क्या साइंस में 50 % अंक लाना अनिवार्य है ?

उत्तर – इसके बिना आपकी इस कोर्से के लिए योग्यता ही नहीं मानी जायेगी इसलिए आपको इस विषय के लिए 50% अंक लाना अनिवार्य ही है |

प्रशन – बायोटेक्नोलॉजी में एग्रीकल्चर का क्या महत्व है ?

उत्तर – आज के युग में बायोटेक्नोलॉजी बहुत महत्त्व रखता है, इससे बहुत तरह दवाईयां बनाई जाती है।

प्रशन – डिप्लोमा कोर्सेस के लिए आयु कितनी होनी अनिवार्य है ?

उत्तर – डिप्लोमा कोर्सिस के लिए आयु कम से कम 17 वर्ष होनी अनिवार्य है आवेदन हेतु |

प्रशन – 10वीं पास कोई स्टूडेंट अगर डिप्लोमा कोर्स करे तो कितने साल का कोर्स होगा ?

उत्तर – डिप्लोमा कोर्से 3 वर्ष का होगा लेकिन याद रखें आवेदक की उम्र 17 वर्ष होना अनिवार्य है |

इसे भी पढ़ें: फिजियोथेरेपी क्या है: कोर्स, परीक्षा, फ़ीस, कॉलेज, जॉब इत्यादि.

चिंता न करें, यदि आप भी करियर सम्बंधित किसी तरह के परेशानियों से जूझ रहे हैं तो हमसे संपर्क करना न भूले| याद रहे केवल उचित मार्गदर्शन से ही असंभव को संभव किया जा सकता हैं. आप अपनी उलझने हमें कमेंट भी कर सकते हैं.

5/5 - (1 vote)

6 thoughts on “बायोटेक्नोलॉजी क्या है: कोर्स, परीक्षा, फ़ीस, कॉलेज, जॉब इत्यादि”

Leave a Comment