एमबीए क्या है: कोर्स, परीक्षा, फ़ीस, कॉलेज, जॉब इत्यादि.

आज का दौर वैश्वीकरण का है। पूरी दुनिया में ज्ञान आगे बढ़ रहा है और ज्ञान को विशाल मैदान में फैलाने के लिए सरकार भी अपना सहयोग कर रही है और अनेक प्रकार की डिग्रियों को निकाल कर छात्रों को कुछ कर दिखने का मौका दे रही है। इसी तरह शिक्षा विभाग की तरफ से एक डिग्री और है जिसे हम सब Master of Business Administration (MBA) के नाम से जानते हैं। कुछ छात्र ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद ही MBA करने का लक्ष्य ठान लेते हैं। परंतु कुछ छात्र को MBA की पूरी जानकारी न होने पर वो MBA छोङ देते है। परंतु आज मैं आपको ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद MBA कैसे करें इसके बारे में आपको पूरी जानकारी दूंगा। तो आइये जानते हैं कि एमबीए क्या है।

MBA का पूरा अर्थ― Master of Business Administration (व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर)

Page Index:
1. MBA की पूरी जानकारी
2. MBA करने के लिए योग्यता
3. एन्ट्रेंस परीक्षा कितने प्रकार की होती है(What is the Type of Entrance Exam)
4. एमबीए कोर्स का पाठ्यक्रम और एमबीए की शुल्क(MBA Course and Fees)
5. भारत में होने वाले MBA के कुछ टॉप परीक्षाएं
6. भारत के कुछ टॉप एमबीए के इंस्टिट्यूट(Top Institute of MBA)
7. छात्रों के लिए एमबीए के टॉप 5 स्‍ट्रीम्‍स(Top 5 Streams of MBA for Students)
8. MBA करने के बाद नौकरी मिलने की संभावनाएं
9. अच्छे पैकेज मिलने वाले क्षेत्र(Good Package Areas)
10. अक्सर पूछे जाने वाले प्रशन (FAQ)

MBA की पूरी जानकारी:

MBA 2 वर्षो का कोर्स होता है, जिसमे छात्र को मैनेजमेंट के सभी विषयों में बेहतर बनाने के साथ किसी एक विषय का एक्सपर्ट बनाया जाता है। MBA के पहले साल में छात्र को मैनेजमेंट के सभी विषयो का परिचय कराया जाता है। इसके बाद छात्र को विशेष विषय का ज्ञान दिया जाता है।

फिर MBA के दूसरे वर्ष में छात्र को कोई एक विशेष विषय चुनकर उसका पूर्ण ज्ञान दिया जाता है। यह उन छात्रों के लिए नही होता जो सेक्टोरल एमबीए में एडमिशन लेते हैं। छात्रों के लिए एक विशेष विषय चुनना बहुत कठिन होता है। एमबीए छात्रों को विशेष विषय चुनने के लिए उन्हें अपने करियर और आगे आने वाले जीवन को देखकर चुनना पड़ता है।

MBA करने के लिए योग्यता:

छात्रों को MBA करने के लिए उन्हें किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन में न्यूनतम अंक 50 प्रतिशत होनी चाहिए। तथा वही SC/ST वालों के लिए न्यूनतम अंक 45 प्रितिशत अंक लाने चाहिए।

छात्रों को MBA में एडमिशन लेने के लिए MBA की प्रवेश परीक्षा देने आवश्यक है, जिसमे आपको पास होना आवश्यक है। प्रत्येक यूनिवर्सिटी और इंस्टिट्यूट की एंट्रेंस परीक्षा अलग अलग होती है। एन्ट्रेंस परीक्षा में अच्छे अंको से पास होने पर ही आपको एक अच्छा यूनिवर्सिटी और इंस्टिट्यूट में एडमिशन मिलेगा। यदि आप परीक्षा में प्रथम आते है तो आपके MBA करने में लगे खर्च पर छूट मिल जाती है।

एन्ट्रेंस परीक्षा कितने प्रकार की होती है(What is the Type of Entrance Exam):

  1. मात्रात्मक क्षमता (Quantitative Ability)
  2. मौखिक क्षमता (Verbal Ability)
  3. तर्क और कारण ( Logic & Reasoning)
  4. सामान्य व्यवसाय जागरूकता (General Business Awareness)
  5. व्याकरण (Grammar)

समूह चर्चा और व्यक्तिगत साक्षात्कार (Group Discussion and personal Interview, GDPI) छात्रों को एन्ट्रेंस परीक्षा देने के बाद उन्हें GDPI इंटरव्यू से गुज़रना पड़ता है। इस इंटरव्यू में पर्सनालिटी डेवलोपमेन्ट के बारे में पूछा अथवा बताया जाता है। यदि आप इस इंटरव्यू में पास हो जाते हो तो आप MBA के इंस्टिट्यूट में अप्लाई कर सकते हो।

एमबीए कोर्स का पाठ्यक्रम और एमबीए की शुल्क(MBA Course and Fees):

एमबीए कोर्स का शुल्क सभी यूनिवर्सिटी और इंस्टिट्यूट में अलग अलग होते है। कहीं पर कम तो कहीं पर ज़्यादा होती है जिन छात्रों के एन्ट्रेंस परीक्षा में अच्छे अंक आते हैं तो उन छात्रों को इंस्टिट्यूट और यूनिवर्सिटी में लगने वाले खर्चे में शिक्षा विभाग छूट देती है।

भारत में होने वाले MBA के कुछ टॉप परीक्षाएं:

  1. कॉमन एडमिशन टेस्ट कैट
  2. जेबियर एप्टीटुड टेस्ट
  3. कॉमन एंट्रेंस टेस्ट
  4. कॉमन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट
  5. मुंबई बिज़नेस स्कूल एंट्रेंस एग्जाम
  6. एशिया स्पेसिफिक इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एग्जाम
  7. ओपन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट
  8. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ फॉरेन ट्रेड

भारत के कुछ टॉप एमबीए के इंस्टिट्यूट(Top Institute of MBA):

  1. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, अलाहाबाद (IIM Ahmedabad)
  2. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, कोलकत्ता (IIM Calcutta)
  3. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, कोझिकोड (IIM Kozhikode)
  4. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, इंदौर (IIM Indore)
  5. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, लखनऊ (IIM Lucknow)
  6. इंस्टिट्यूटऑफ मैनेजमेंट, निरमा यूनिवर्सिटी अहमदाबाद (IMNU Ahmadabad)
  7. सिमबोसिस इंस्टिट्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट, पुणे (SIBM Pune)
  8. जेवियर इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, भुवनेश्वर (XIM Bhubaneswar)
  9. जेबियर लेबर रिलेशन इंस्टिट्यूट ऑफ जमशेदपुर (XLRI Jamshedpur)

छात्रों के लिए एमबीए के टॉप 5 स्‍ट्रीम्‍स(Top 5 Streams of MBA for Students):

1. फाइनांस (Finance) ― MBA in Finance: एमबीए स्‍पेशलाइजेशन का सबसे पुराना विषय है। इस कोर्स के दौरान आप कोस्टिंग, बजटिंग और इंटरनेशनल फाइनान्स जैसे विषयों की तैयारी करवाई जाती है। इन विषयों की पढ़ाई करने के बाद आप फाइनेंसियल मैनेजमेंट में स्पेशलाइज्ड बन जाते हैं। जिससे आपको किसी भी फाइनांस कंपनी में आसानी से जॉब मिल जाती है। यदि आप भी फाइनांस से एमबीए करना चाहते है तो आपको किसी भी एक स्ट्रीम में रूचि लेना होगा।

2. मार्केटिंग (marketing)― MBA Marketing: छात्रों के लिए काफी कॉम्पटेटिव है। एमबीए मार्केटिंग में छात्रों को मार्केटिंग, एडवरटाइजिंग, बेहेवियर, कंज़्यूमर जैसे फिल्ड से सम्बंधित अन्य तथ्यों को समझने में मदद मिलती है। इस फील्ड में उन छात्रों को अपना करियर बनाना चाहिए जिनकी कम्युनिकेशन स्किल बहुत बेहतरीन है तथा जिन्हें मार्केटिंग में टिके रहने का जज़्बा हो।

3. इंटरनेशनल बिज़नेस― Master of International Business: में इंटेरनेशनल ऑपरेशन जैसे इंटरनेशनल मार्केटिंग और फाइनांस की deeply जानकारी दी जाती है। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएट होना ज़रूरी है।

4. रूरल मैनेजमेंट― MBA in Rural Management: में कंपनियों को मैनेज करना सीखते है। रूरल मैनेजमेंट में विकास और विकसित की सम्भावना अधिक है। किसी भी स्ट्रीम के ग्रेजुएट इस कोर्स में अप्लाई कर सकते हैं।

5. Health केयर मैनेजमेंट― हलाकि एमबीए में हेल्थ केयर मैनेजमेंट के लिए अधिक प्रयास की आवश्यकता पड़ती है। कोई भी स्ट्रीम से ग्रेजुएट हेल्थ केयर मैनेजमेंट में एडमिशन ले सकता है।

MBA करने के बाद नौकरी मिलने की संभावनाएं:

एमबीए कोर्स करने में ज़्यादा खर्च तो जाता ही जाता है, परंतु MBA करने के बाद आपको कही भी आसानी से नोकरी मिल सकती है जिससे आप MBA करने में लगे खर्चे को वसूल कर सकते हैं। सबसे अच्छी बात आपके लिए यह हैं कि इस कोर्स को करने के बाद कैंडिडेट अनेक फ़ील्ड्स में काम करने के लिए तैयार हो जाते हैं और उन्हें पैकेज भी उनकी योग्यतानुसार और अनुभव के आधार पर ही दिए जाते हैं।

अच्छे पैकेज मिलने वाले क्षेत्र(Good Package Areas):

  1. मार्केट रिसर्च एनालिस्ट (Market Research Analist)
  2. मार्केटिंग मेनेजर (Marketing Manager)
  3. प्रोजेक्ट मैनेजर (Project Manager)
  4. एडवरटाइजिंग मेनेजर (Advertising Manager)
  5. ह्युमन रिसर्च मेनेजर (Human Research Manager)
  6. मैनेजमेंट कंसलटेंट (Management Consultant)
  7. बैंकिंग एंड फाइनेंस (Banking and Finance)
  8. इन्फोर्मशन सिस्टम मैनेजमेन्ट (Information System Management)

अक्सर पूछे जाने वाले प्रशन (FAQ):

प्रशन – मैने समाजशास्त्र भूगोल और उर्दू से बीएड किया है मै एमबीए करना चाहता हूँ तो मुझे इसके लिए क्या करना होगा?

उत्तर – स्नातक किसी भी विषय से हो आप एमबीए कर सकते हैं।

प्रशन –एमबीए के लिए इंग्लिश कैसे सीखे?

उत्तर – इंग्लिश सीखने के लिए इंटरनेट पर बहुत तरह के टूल उपलब्ध है इसके अलावा आप लोकल कोचिंग के माध्यम से सिख सकते हैं।

प्रशन – बीबीए और एमबीए स्नातक डिग्री के बराबर होती है

उत्तर – बीबीए एक स्नातक डिग्री है जबकि एमबीए स्नाकोत्तर, इसलिए दोनों एक दूसरे से बिलकुल अलग है।

प्रशन –एमबीए को हिंदी क्या कहते हैं?

उत्तर – व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर।

प्रशन –बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड से एमबीए होता है या नहीं?

उत्तर – हाँ कर सकते हैं।

प्रशन – बी एस सी के बाद MBA कर सकते है?

उत्तर- हाँ कर सकते हैं।

प्रशन –क्या 5 साल के बाद M.B.A कर सकते हैं?

उत्तर – हाँ बिलकुल कर सकते है, इसके लिए कोई समय सीमा तय नहीं है आप ग्रेजुएशन के बाद कभी भी एडमिशन सकते है।

प्रशन – क्या ओपन यूनिवर्सिटी से MBA कर सकते है?

उत्तर – हाँ कर सकते है।

4.1/5 - (37 votes)

63 thoughts on “एमबीए क्या है: कोर्स, परीक्षा, फ़ीस, कॉलेज, जॉब इत्यादि.”

Leave a Comment